10 सरल वजन घटाने के योग | Weight Loss Yoga

योग भारतीय सभ्यता का एक अंग है । 5000 साल पुरानी सिंधु सभ्यता की समय से वजन कम करने की कुछ विधि का निर्देशन हमें मिली थी । भारतीय वैदिक संस्कृति स्त्रोत्र के अंदर भी योग का उल्लेख है । प्राचीन ऋषि गान योग को संशोधन करके उपनिषद के अंदर इसे शामिल करके प्रशिक्षण का माध्यम बनाया । ये योग सालों से विकसित हो रहा है और अभी भी इसका प्रयोग चल रहा है । योग के 5 नियम हैं 1 खानपान 2 साँस लेने की विधि 3 विश्राम 4 ध्यान 5 व्यायाम । जानेंगे लाइफ चेंजिंग 10 बेस्ट सरल और आसान वजन घटाने के योग के बारे में। ।

क्या वजन घटाने के लिए योग सही है ?

योग एक ऐसी माध्यम है जिसे आप स्वास्थ्यकर उपाय से अपनी वजन कम कर सकते हैं । लेकिन इसमें बहुत मतभेद भी है क्योंकि बहुत लोगों का मानना है योग वजन काम नहीं करते इसके साथ अच्छे खान-पान की भी जरुरत होती है । योग एक प्राचीन अभ्यास विधि है जिससे कई तरह की शारीरिक दिक्कतों और बीमारियों से निजात पाया जा सकता है। मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या है ।आज के समय मे बच्चा, बूढ़ा, जवान हर कोई इस समस्या से जूझ रहा है । और महिलाओं को तो बहुत शीघ्र ही मोटापे की समस्या का सामना करना पड़ता है । अनियमित दिनचर्या और ओवर डाईटिंग इस का सबसे बड़ा कारण है । मोटापे की वजह से शरीर थुलथुला हो जाता है । जिसके कारण व्यक्ति भागदौड़ नहीं कर पाता व चलने में भी परेशानी होती है ।

वजन घटाने के लिए योग

इस समस्या का एक ही समाधान योग (Yoga) और संतुलित भोजन (Balanced Diet) है । तो आइए जानते हे वजन घटाने के योग द्वारा किस तरह किया जाता है । योग आपको शारीरिक व मानसिक दोनों तरह से फिट रखता है । योग आपको शारीरिक रूप से तंदरुस्त रखने के साथ साथ आपके मन को भी स्वस्थ रखता है। वजन घटाने की दो मुख्य कारण हैं योग और खानपान जो एक दूसरे से जुड़ी है । वजन घटाने के योग केवल कुछ मुद्रा के बारे में नहीं है । यह आपको मजबूत रखने के साथ – साथ बहुत सारे फायदे भी प्रदान करता है ।

  • हमारे सांस लेने का जो प्रक्रिया है इसे सुदृढ़ करता है ।
  • शारीरिक शक्ति बढ़ाने में मदद करता है ।
  • कार्डियो शस्त्र को बेहतर बनाता है ।
  • वजन को घटाने में  मदद करता है ।
  • हमारा थकान कम करता है ।

वजन घटाने के योग आसन

शुरुआत में आपको कुछ सरल और सीधा वजन घटाने के योग आसन से शुरुआत करना है । इन योग आसन को करने से आपके शरीर का लचीलापन बढ़ेगा साथ ही साथ आपकी पेशियाँ भी मजबूत होंगी । इस सरल योग से अभ्यस्त होने के बाद आप अपने वजन घटाने के लिए योगा अनुशीलन शुरू करेंगे ।

  1. धनुरासन
  2. मर्कटासन
  3. भुजंगासन
  4. पवनमुक्तासन
  5. पदबित्तासन
  6. द्बि चक्रासन
  7. नौकासन
  8. त्रिकोणासन
  9. पछिमात्रासन
  10. सेतु बंधासन (ब्रिज पोज़)

आइये 10 वजन घटने के योग आसन के बारे में हम विस्तार से जानेंगे ।

1. धनुरासन

वजन घटाने के 10 योग- धनुरासन

वजन घटाने के योग का पहला आसन धनुरासन । इस आसन को करते समय शरीर की आकृति कुछ तौर पे धनुष के जैसा हो जाता है इसीलिए इसे धनुरासन कहा जाता है। इसे करने के लिए सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं । फिर दोनों पैर को एक दूसरे से जोड़ें । अब दोनों पैर को घुटने से मोड़कर घुटने और पंजों के बीच में 1 फुट का अंतर रख के दोनों पैर को दोनों हाथों से पकड़ें । हाथ की मदद से धर और घुटनों को अपने क्षमता के अनुसार ऊपर उठाने की कोशिश कीजिए । सांस प्रसास सहज रखें । इस स्थिति में थोड़ा रुक के फिर पूर्व स्थिति में आ जाएं ।

धनुरासन के फायदे :

  • धनुरासन करने से हमारे शरीर के हर अंग को फायदा मिलता है और शरीर का दर्द दूर हो जाता है ।
  • शरीर पर जमा हुआ फैट या चर्बी कम होने लगते हैं, इसकी वजह से मोटापा घटता है ।
  • इस आसन से रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है थोड़ी बहुत कमर दर्द भी दूर होती है ।
  • हजम क्षमता बढ़ाते हैं पेट से जुड़ा हर परेशानी गैस,एसिडिटी, पेट दर्द सब ठीक होता है ।
  • यह आसन महिलाओं की मासिक चक्र को या उससे संबंधित हर समस्याओं को दूर करते हैं ।
  • इससे सीना, जाँघे और कंधे मजबूत होते हैं ।

2. मर्कटासन

वजन घटाने के योग का दूसरा आसन मर्कटासन । इस आसन को 3 तरीके से कर सकते हैं ।

पहला तरीका :

मर्कटासन सीधे लेट कर इस आसन को किया जाता है । दोनों पैरों को घुटने से मोड़ना है और दोनों हाथों को कंधों के समान फैलाना है । हथेलियों को ऊपर की  तरफ रखना है । दाहिने तरफ पैरों को झुकाना है । घुटने की ऊपर घुटने एड़ी पर एड़ी पंजे के ऊपर पंजे । गर्दन को दायीं तरफ घुमाएंगे सांस को अंदर रोक कर रखिए, फिर सास को छोड़कर पूर्व स्थिति में आ जायें । फिर पैरों को बायीं तरफ झुकाना है । फिर से घुटनों के ऊपर घुटने एड़ी के ऊपर एड़ी पंजे के ऊपर पंजे रहना चाहिए । गर्दन को अब दायीं तरफ रखना है सास को थोड़ा देर के लिए अंदर रोकें । फिर कुछ देर ऐसी स्थिति में रहने के बाद पूर्व स्थिति में आ जायें ।

दूसरा तरीका :

मर्कटाआसन में एक पैर को दाहिने तरफ झुकाना है और दूसरा पैर को उस पैर की पंजे में लगाना है । गर्दन को विपरीत दिशा में यानी बाएं तरफ रखना है । सांस को अंदर रखना है । फिर कुछ समय ऐसी स्थिति में रहकर फिर सामान्य स्थिति में आ जायें । फिर एक पैर को बाएं तरफ झुकाना है और दूसरी पैर को उस पैर के पंजे में लगा के गर्दन को विपरीत दिशा में रखना है । याद रखें दोनों हाथ कंधे के सीधा फैला हुआ रखना है,और हथेली ऊपर की तरफ रहे ।

तीसरा तरीका :

इसके लिए दोनों पैर को एक जगह सटे हुए रखना है, घुटना भी सीधा रखना है, दोनों हाथों को कंधे के समान फैला हुआ और हाथों के पंजे खुला हुआ ऊपर की तरफ रहना चाहिए । अब एक पैर को ऊपर उठा कर दूसरे पैर को हाथों की ओर ले कर जाना है गर्दन पैर की विपरीत ओर जाएगी । ऐसी स्थिति में 1 मिनट तक रहे फिर पूर्व स्थिति में आ जायें । इसी विधि को दूसरी तरफ करना है ।

मर्कटासन के फायदे :

  • कमर से सम्बंधित हर समस्याओं का समाधान के लिए इस आसन को करना बहुत  जरूरी है ।
  • जिन्हें कब्ज और  हाजमी की समस्या है उनको यह आसन जरूर करना चाहिए ।
  • इस आसन से रीढ़ की हड्डियां मजबूत होती हैं मधुमेह रोगी केलिए यह आसन बहुत ही लाभदायक होता है ।
  • मेमोरी पावर को बेहतर बनाने के लिए इस आसन को जरूर करें ।

3. भुजंगासन

वजन घटाने के योग - भुजंगासन

वजन घटाने के योग का तीसरा आसन भुजंगासन। भुजंग एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है सर्प यानी सांप । इसीलिए इंग्लिश में इसे Cobra Pose कहा जाता है । इस आसन को करने के लिए पहले पेट के बल पर लेटना है, फिर दोनों पैर को एक जगह पर रखें । पैर को जमीन पर लगा हुआ रखना चाहिए अब दोनों कोहनियों को  दोनों तरफ की पसलियों से सटा हुआ रखकर दोनों हाथों की हथेलियां जमीन पर लगाकर हथेलियां सीधा रखना है । ध्यान रखना चाहिए हाथों की पंजे कंधों की नीचे होने चाहिए । अब सर जमीन से लगा के दोनों आंखों को बंद करके सांस को अंदर भरते हुए धीरे धीरे बॉडी को ऊपर उठाइए । अब आप गर्दन को ऊपर की ओर उठाइए फिर अपने छाती को धीरे-धीरे ऊपर उठाइए । कोशिश करें पेट को भी धीरे-धीरे ऊपर उठाने की ।

भुजंग आसन के फायदे :

  • भुजंग आसन रोजाना करने से प्रजनन संबंधी रोग दूर हो जाते हैं ।
  • इससे पेट में जमा हुआ चर्बी को कम करने में मदद मिलता है ।
  • कब्ज रोग दूर होता है, गैस का समस्या का समाधान होता है ।
  • भुजंगासन करने से हमारी श्वसन क्रिया अच्छी हो जाती है ।
  • सांस संबंधित रोग ठीक हो जाते हैं गले में होने वाली हर तरह की रोग से मुक्ति मिलती है ।

4. पवनमुक्तासन

वजन घटाने के योग का चउथा आसन पवनमुक्तासन। पवन यानी वायु पेट के अंदर भरी हुई दूषित वायु को या पवन को पेट से बाहर निकालता है । इसीलिए इस आसन का नाम है पवनमुक्तासन । इस आसन को करने के लिए हमें पीठ के बल लेटना है फिर दोनों पैर को एक दूसरे से सटाकर रखना है । फिर घुटने को  मोड़ कर पंजे को भूमि से लगाना है । इसके बाद सटे हुए घुटनों को छाती पर लेकर आओ और हाथ से अच्छे से घुटनों को पकड़ो फिर धीरे-धीरे सांस बाहर छोड़ो पेट को अंदर करो । यह आसन आप एक एक पैर से भी कर सकती है लेकिन याद रखें एक पैर जब छाती के ऊपर होगी दूसरा पैर को भूमि से लगा हुआ रहना चाहिए ।

पवनमुक्तासन के फायदे :

  • पवनमुक्तासन वायु की प्रकोप तथा अधिक डकार को ठीक करके वायु को शरीर से मुक्त करती है । 
  • पेट की चर्बी कम होती है और पेट से जुड़ा हुआ सभी रोग जैसे गैस, अल्सर ठीक करते हैं। 
  • इस आसन को करने से मानसिक थकान कम होती है, फेपड़े और ह्रदय के बीमारी को ठीक करते हैं ।
  • बवासीर दूर होती हैं वजन घटाने के योग पवनमुक्तासन।
  • प्रसव के बाद जिन महिलाओं की पेट आगे निकल आते हैं उनको मदद करती  है इसे ठीक करने में।

5. पदबित्तासन

वजन घटाने के योग का पांचवा आसन पदबित्तासन। पद यानी पैर वित्त यानी सुन्ने । यानी पैर से सुन्ने या बित्ता बनाना है । इसीलिए इस आसन का नाम पदबित्तासन है । इस आसन को करने के लिए हमें पीठ के बल पर लेट जाना है । फिर दोनों हाथों को शरीर के तरफ रखना है । फिर एक-एक पैर से वित्त यानी सुन्ने बनाना है । इस प्रक्रिया को घड़ी के दिशा में और घड़ी के विपरीत दिशा में करना है । फिर दोनों पैर को एक साथ ऊपर उठाकर वित्त बनाना है । इस प्रक्रिया को भी घड़ी के दिशा में और घड़ी के विपरीत दिशा में  करें  ।

पदबित्तासन के फायदे : 

  • पदबित्तासन करने से हमारी पैर की जांघ में जो अतिरिक्त चर्बी होते हैं इसे कम करने के साथ – साथ पेट की चर्बी को कम करने में मदद करते हैं ।
  • इससे हमारी पैर की हड्डियां मजबूत होती हैं  , घुटनों की बीमारी, पैर से संबंधित हर बीमारी ठीक होते हैं ।
  • हमारे पाचन तंत्र सक्रिय होते हैं वजन घटाने के योग सेतु पदबित्तासन।
  • हमारे नितंब से लेकर पीछे का फैट कम करते हैं वजन घटाने के योग पदबित्तासन ।

6. द्बि चक्रासन

वजन घटाने के योग का छठा आसन द्बि चक्रासन। द्बि यानि दो चक्र यानी चक्का, दो चक्का यानी साइकिल । इस आसन में आपको पीठ के बल लेट के दोनों पैर को ऊपर उठा कर साइकलिंग करना है । 10 बार आगे की ओर और 10 बार पीछे की ओर फिर धीरे-धीरे इसको बढ़ाना है ।

द्बि चक्रासन के फायदें :

  • इस आसन को पेट से लेकर शरीर के निचले भाग का चर्बी को घटाने में मदद करते हैं ।
  • घुटने के दर्द, पैर की मांसपेशी की दर्द कम करते हैं ।
  • पैर की हड्डियों को मजबूत बनाते हैं वजन घटाने के योग द्बि चक्रासन।

7. नौकासन

वजन घटाने के 10 योग - नौकासन

वजन घटाने के योग का सातवा आसन नौकासन। इस आसन को करते समय हमारा शरीर नौका की तरह दिखती है । इसीलिए इस आसन के नाम है नौकासन । इस आसन  को करने के लिए सबसे पहले शव आसन में लेट जाना है । फिर दोनों पैर को सटे हुए ऊपर की ओर उठाना है । इसके साथ ही पीठ को भी ऊपर की ओर उठाना है । दोनों हाथों को घुटने के ऊपर रखना है, ध्यान रखें हाथ घुटनों को टच ना करे । शरीर की पूरी प्रभाव  कूल्हों के ऊपर पड़ेगी । इस स्थिति में कुछ देर रुक के फिर स्वभाविक स्थिति में आना है । 

नौकासन के फायदे :

  • पीठ और पेट की मांसपेशी को मजबूत करती है।  पैर और हाथों का मांसपेशी टोन होते हैं ।
  • हर्निया की समस्या दूर करती है वजन घटाने के योग नौकासन। 
  • पाचन तंत्र को सक्रिय करती है ।
  • हाजमी क्षमता को  बढ़ाते हैं, और हमारी बेली फैट को कम करती है ।
  • जांघ, कूल्हों, कंधे और गर्दन को ताकत देती है । 
  • यकृत, अग्न्याशय और फेफड़ों के कार्य को नियंत्रित करता है वजन घटाने के योग द्बि चक्रासन।
  • गुर्दे, थायरॉयड और प्रोस्टेट ग्रंथियों के कार्य को बनाए रखता है ।  

8. त्रिकोणासन

वजन घटाने के योग - त्रिकोणासन

वजन घटाने के योग का अठबी आसन त्रिकोणासन। त्रिकोण यानी ट्रायंगल/त्रिभुज । इस आसन को करते समय हमारी शरीर की आकृति त्रिभुज की तरह लगती है इसीलिए इस आसन का नाम त्रिकोणासन है ।

त्रिकोणासन कैसे करना हे

यह आसन करने के लिए हमें दोनों पैर को एक साथ जोड़कर खड़ा होना है । और हाथों को जंघे की बगल में ही रहने दीजिए । अब अपने पैर के बीच 2 से 3 फीट की फासला बनाये, और अपने बाहों को कंधे तक फैलाएं । सांसों को अंदर रोकते हुए अपने दायीं बाहों को सिर के ऊपर ले जाइए, ताकि बाहें कान को छूने लगे ।

अब धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए अपने शरीर को बायीं ओर झुकाएं ।याद रखिए घुटने को नहीं मोड़ना चाहिए, और हाथ को भी कान की ऊपर से हटना नहीं चाहिए । अब धीरे-धीरे अपने दायीं बाहों को जमीन की ओर लेकर आइए, और बाईं बाहे बाईं पैर के समांतर होनी चाहिए, लेकिन बाहे उस पैर ऊपर टिकी होनी नहीं चाहिए । धीरे-धीरे सांस ले और धीरे-धीरे सांस को छोड़ें । अपने शरीर की क्षमता के अनुसार इस स्थिति में कुछ देर रुक कर पुरानी स्थिति में आ जाइए । इस क्रिया को दूसरी ओर भी करना है। 

त्रिकोणासन के फायदे :

  • इस आसन को करने से हमारा पाचन तंत्र सक्रिय हो जाती है इसीलिए पेट से जुड़े हुए हर परेशानी से राहत मिलती है ।
  • इससे हमारे शरीर की कमर का फैट, और बेली फैट कम होती है। ये आसन हमारी पूरी शरीर को मालिश देती है ।
  • इस आसन को करने से गर्दन की समस्याएं दूर होती है, रीढ़ की हड्डी भी मजबूत होती है ।
  • त्रिकोणासन करने से हमारे शरीर में रक्त की संचालन सही से होता है इसीलिए  ब्लॉकेज या स्ट्रोक की खतरा कम हो जाती है ।
  • इस आसन को करने से हमारी कमर दर्द कम हो जाती है, और महिलाओं की मासिक चक्र की समस्याएं भी कम होती है ।

9. पछिमात्रासन

वजन घटाने के योग - पछिमात्रासन

वजन घटाने के योग का नाबा आसन पछिमात्रासन। अपने पैरों को सीधे अपने सामने फैलाकर फर्श पर बैठें । अपनी रीढ़ की हड्डी और पैर की उंगलियों को सीधा रखें । अपने दोनों हाथों को अपने सिर के ऊपर उठाएं । आगे झुकते हुए सांस लें और रीढ़ को सीधा रखते हुए अपने धड़ को अपने पैरों के ऊपर रखें । आप अपने सिर से अपने घुटनों को टच करें । हाथों से पैर के उंगलियों को छूने की कोशिश करें । इस स्थिति में कुछ देर रुकके फिर स्वाभाविक स्थिति में आना है । 

पछिमात्रासन के फायदे :

  • यह मस्तिष्क को शांत करने में मदद करता है, जिससे तनाव और हल्के अवसाद से राहत मिलती है ।
  • चिंता और थकान को कम करने में मदद कर सकता है वजन घटाने के योग पछिमात्रासन ।
  • यह पेट और दूसरे अंगों की मालिश करता है और अवांछित फैट जलाने और वजन घटाने के लिए एक सरल लेकिन प्रभावी योग आसन है ।
  • नियमित रूप से अभ्यास किया जाए तो पाचन को बेहतर बनाने में मदद कर सकता है वजन घटाने के योग पछिमात्रासन।
  • यह कंधों को टोन करता है, और पीठ के निचले हिस्से, हैमस्ट्रिंग और कूल्हों को शेप देता है ।
  • यकृत, गुर्दे, अंडाशय और गर्भाशय को उत्तेजित करने में मदद कर सकता है वजन घटाने के योग पछिमात्रासन।
  • यह अनिद्रा को दूर करके अच्छी नींद को बढ़ावा देता है ।

10. सेतु बंधासन (ब्रिज पोज़) कैसे करें

वजन घटाने के 10 योग - सेतु बंधासन (ब्रिज पोज़)

वजन घटाने के योग का दसबी आसन सेतु बंधासन (ब्रिज पोज़)। सेतु बंधासन (ब्रिज पोज़) शुरू करने के लिए, अपनी पीठ के बल लेट जाएं । अब अपने घुटनों को मोड़ें और पैरों को अलग रखें । अपने हाथों को अपने शरीर के पीछे रखें, और हथेलियों को नीचे की ओर ।धीरे-धीरे साँस ले, अब अपनी पीठ के निचले हिस्से और ऊपरी पीठ को फर्श से ऊपर उठाएं । धीरे से कंधों में रोल करें  नीचे लाएं बिना छाती को छूएं, अपने कंधों, हाथों और पैरों के साथ अपने वजन का समर्थन करें । इस मुद्रा में अपनी नीचे की फर्म को महसूस करें । दोनों जांघें एक-दूसरे के समानांतर और मंजिल तक होती हैं ।

ब्रिज पोज़ के लाभ (सेतु बंधासन) :

  • पीठ की मांसपेशियों को मजबूत करता है वजन घटाने के योग सेतु बंधासन।
  • पीठ दर्द को तुरंत आराम पहुंचाता है ।
  • छाती, गर्दन और रीढ़ को एक अच्छा खिंचाव देता है वजन घटाने के योग सेतु बंधासन।
  • मस्तिष्क को शांत करता है, चिंता, तनाव और अवसाद को कम करता है ।
  • फेफड़ों को स्वचालित करता है और थायराइड की समस्याओं को कम करता है वजन घटाने के योग सेतु बंधासन।

निष्कर्ष:-

       उपरोक्त दिए गए वजन घटाने के योग को निरंतर करने से आपके शरीर को कथनानुसार दीर्घकालिक परिणाम मिलेंगे ही साथ ही साथ आपको आपके वजन को कम करने में भी बहुत मदद मिलेगी ।  हां ये बात जरूर है किउपरोक्त बताये गए योग के साथ साथ आपको संतुलित आहार करने की भी आवश्यकता  होगी । जो कि  आपके शरीर को हमेशा सुडौल और  दीर्घकालिक कार्यरत रखेगी । ये योग बच्चे , पुरुष , स्त्रियां और बुजुर्ग लोग सभी के लिए फायदेमंद  हैं ,और उन सभी लोगो को जितना जल्द हो सके शुरू कर देना चाहिए जिनका शरीर नियमित कार्यरत नहीं है या जिनका वजन काफी ज्यादा बढ़ चूका है ।

1 thought on “10 सरल वजन घटाने के योग | Weight Loss Yoga”

Leave a Comment